advertisement

Knowledge

ज्यादा नाजुक होता है पुरुषों का दिल


पुरुषों को पत्थर दिल मानने वाले लोगों को अब अपना ख्याल बदल लेना चाहिए। अब वैज्ञानिक तौर पर यह बात साबित हो गई है कि पुरुषों के अंदर 'ब्रोकन हार्ट सिंड्रोम' मौजूद होता है। इस सिंड्रोम की मौजूदगी के चलते उनका दिल टूटने पर संभाले नहीं संभलता। उनके लिए यह जानलेवा हो जाता है। पुरुषों में यह खतरा महिलाओं की तुलना में छह गुणा ज्यादा पाया गया है।
ब्रिटिश शोधकर्ताओं ने पाया कि पत्‍‌नी की मौत की स्थिति में एक साल के भीतर पति की भी मृत्यु हो जाने का खतरा बना रहता है। लंदन के कास बिजनेस स्कूल के प्रमुख शोधकर्ता डा. जाप स्प्रियू का कहना है कि शोध में 'ब्रोकन हार्ट सिंड्रोम' की मौजूदगी साबित हुई है। वह कहते हैं, 'हम सब जानते हैं कि पति या पत्‍‌नी की मौत का एक-दूसरे की जिंदगी पर काफी गहरा प्रभाव पड़ता है। पर हमारा शोध बताता है कि यह प्रभाव सीधे-सीधे मौत के खतरे से जुड़ा हुआ है। यह आंकड़ों के आधार पर साबित हुआ है कि दिल टूट जाने की स्थिति में काफी कम समय के भीतर व्यक्ति की मौत हो जाती है।' वह कहते हैं कि यह प्रभाव उन लोगों पर ज्यादा पड़ता है, जिनकी शादी को काफी लंबा वक्त हो चुका होता है। लेकिन एक अच्छी बात यह है कि वियोग के एक साल बाद मौत का खतरा घट जाता है।
शोधकर्ताओं ने लगभग 11 हजार चार सौ 54 लोगों की जीवनबीमा पालिसी का अध्ययन किया। इसमें पाया गया कि 195 जोड़ों की एक साथ ही मृत्यु हो गई थी। 1048 मामलों में पति अपने जीवनसाथी की मौत का गम नहीं बर्दाश्त कर सके और मर गए। महिलाओं के मामले में यह आंकड़ा 255 रहा। डा. स्प्रियू कहते हैं कि इससे पता चलता है कि 'ब्रोकन हार्ट सिंड्रोम' का असर पुरुषों पर महिलाओं की तुलना में कहीं ज्यादा पड़ा।

About bhoj

1 comments:

Unknown said...

Very Good Article

Powered by Blogger.